भाई को निर्दोष साबित न कर लूँ वर्दी नहीं उतारूँगा

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr +

बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली मारने के आरोप जीतेंद्र ऊर्फ जीतू फौजी के बड़े भाई धर्मेंद्र मलिक जो खुद सेना में जवान हैं का कहना है कि उनका भाई षड्यंत्र का शिकार हो गया है। धर्मेंद्र का कहना है कि उनका भाई जीतू पुलिस इंस्पेक्टर के कत्ल में शामिल नहीं है। उनके पास सबूत हैं कि उनका भाई उस दिन घटना वाली जगह पर मौजूद ही नहीं था। धर्मेंद्र ने आगे कहा कि मेरी मुख्यमंत्री से गुजारिश है कि वह मेरी मदद करें। धर्मेंद्र ने कहा कि मैं अपने भाई को निर्दोष साबित करने के लिए यहां आया हूं और जब तक मैं उसे निर्दोष साबित नहीं करवा दूंगा तब तक ये वर्दी नहीं उतारूंगा।

Share.

About Author

Comments are closed.